चार्ल्स मिशेल डुलिपि 306वीं जयंती है। मिशेल ने बधिरों के लिए दुनिया का पहला स्कूल खोला था। उन्होंने बधिरों के लिए इस स्कूल की स्थापना 1769 में फ्रांस में की थी। इस स्कूल में बधिरों को साइन लैंग्वेज सिखाई जाती थी, जिसकी मदद से वे दूसरों की बातों को समझ और पढ़ सकते थे। चार्ल्स को ‘फादर ऑफ द डीफ’ यानी ‘बधिरों का पिता’ भी कहा जाता है। Ref.24J

मशहूर सितारवादक उस्ताद इमरत खान का 83 साल की उम्र में अमेरिका में निधन हो गया। उन्होंने दुनियाभर में सितार और सुरबहार को प्रसारित करने के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया था।  Ref.24J

युवा गायिका नाहिद आफरीन (17) को यूनिसेफ ने बाल अधिकारों के प्रति आवाज उठाने के लिए पूर्वोत्तर का पहला ‘यूथ एडवोकेट’ नियुक्त किया है। यूनिसेफ के यूथ एडवोकेट समाज में परिवर्तन के वाहक के तौर पर काम करते हैं। Ref.24J

महाराष्ट्र के कोकण स्थित जैतापुर में प्रस्तावित परमाणु ऊर्जा परियोजना के लिए जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Elite Study\'s Content is protected !!