अंतर्राष्ट्रीय बाजार में 70 लाख रुपए प्रति किलोग्राम कीमत वाली नागछतरी (ट्रिलियम गोवाएनियम) पर शोध और इसकी प्रजातियां विकसित करने की जिम्मेदारी किसे सौंपी गई है – नौणी विवि

(सोलन नौणी विवि इस प्रोजेक्ट को केंद्र के आयुष मंत्रालय की निगरानी में चलाएगाI नागछतरी के संरक्षण के लिए डॉक्टर यशवंत सिंह परमार उद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी को 30 लाख रूपय का यह प्रोजेक्ट मंजूर हुआ हैl Ref. 17A01

इज ऑफ डूइंग बिजनेस (कारोबार में सुगमता) के अध्ययन के मुताबिक हिमाचल प्रदेश में नए उद्योगों को माहौल दे पाने में देशभर में 17th पायदान से 16th पायदान पर पहुंच गयाl  Ref.17A01

नौणी विश्वविद्यालय का क्षेत्रीय केंद्र हिमाचल प्रदेश में कहां पर खोला जाएगा – थुनाग (जिला मंडी)         Ref.17A08

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.