साल 2015 में ईरान के पी5+1 देशों और यूरोपीय संघ के बीच हुए परमाणु समझौते से अमरीका के बाहर हो जाने के बाद वाशिंगटन ने तेहरान पर एक के बाद कई प्रतिबंध लगा दिए हैं। अब उन प्रतिबंधों को ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने ‘आर्थिक आतंकवाद’ करार दिया है।

‘जननायक जनता पार्टी’ –  हरियाणा 

संयुक्त राष्ट्र महासचिव – एंटोनियो गुटेरेस 

रूसी कंपनियों ईएन ग्रुप , यूनाइटेड कंपनी आरयूूएसएएल और जीएजेड ग्रुप पर प्रतिबंध को सात जनवररी से 21 जनवरी तक बढ़ाया जायेगा। डेरीपास्का के साथ संलिप्तता के मामले को लेकर अमेरिका ने गत अप्रैल में इन कंपनियों पर प्रतिबंध लगा दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.