हिमाचल प्रदेश के सरकारी स्कूलों में न्यूट्रीशन गार्डन केंद्र सरकार के 90:10 के अनुपात में बनेंगे।

गिनीज बुक रिकॉर्ड होल्डर जानेमाने जियोलॉजिस्ट डा. रितेश आर्य ने विश्व पर्यावरण दिवस पर समूचे विश्व को अनूठे तरीके से पर्यावरण का संरक्षण का संदेश दिया है। डा. आर्य ने सोलन जिला के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल कसौली के समीपवर्ती गढ़खल में दो करोड़ वर्ष पुराने जीवाश्म हासिल करने का दावा किया है।

प्रदेश में चीड़ की पत्तियों पर आधारित स्थापित होने वाले लघु उद्योगों के लिए आईआईटी मंडी ने मॉडल तैयार कर दिया है। अब इसके आधार पर ही प्रदेश सरकार ने 25 उद्योग स्थापित करने के लिए मंजूरी प्रदान कर दी है। ये उद्योग प्रदेश के कुल्लू, मंडी, शिमला, कांगड़ा, हमीरपुर, सोलन और बिलासपुर क्षेत्रों में लगाए जाएंगे। चीड़ की पत्तियों पर आधारित औद्योगिक इकाइयां लगाने के लिए सरकार निवेशकों को 50 प्रतिशत की ग्रांट देगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.