हिमाचल साहित्य अकादमी अवार्ड से पुरस्कृत कवि व  प्रदेश सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के उपनिदेशक गुरमीत बेदी की छह किताबें  नई दिल्ली में आयोजित विश्व पुस्तक मेले मे शामिल किया गया। गुरमीत बेदी जर्मनी व मारीशस में आयोजित वर्ल्ड  पोएट्री फेस्टिवल सहित कई देशों में अपनी रचनाओं का पाठ करके हिमाचल प्रदेश का गौरव बढ़ा चुके हैं और उन्हें विदेशों में सम्मानित भी किया गया है। उनके कविता संग्रह ‘मेरी ही कोई आकृति’ का जर्मनी में भी अनुवाद हो चुका है, जबकि व्यंग्य संग्रह ‘नाक का सवाल’ के लिए कनाडा का प्रतिष्ठित ‘विरसा अवार्ड’  भी उन्हें  मिल चुका है।

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड धर्मशाला के नवनियुक्त अध्यक्ष – डा. सुरेश कुमार सोनी

विंटर कार्निवाल के दूसरे दिन मनाली मालरोड पर कुल्लवी महानाटी का आयोजना किया गया। इस नाटी में सैकड़ों महिलाओं ने शिरकत की और सैलानियों को कुल्लवी परंपरा से परिचित करवाया।

एनटीपीसी द्वारा एसजेवीएनएल (SJVNL) को टेकओवर करने के मामले पर प्रदेश सरकार ने कड़ी आपत्ति जताई है।एसजेवीएनएल की तरफ से प्रदेश में 1500 मेगावाट क्षमता का पहला प्रोजेक्ट नाथपा झाकड़ी में बनाया गया। इस प्रोजेक्ट की वर्तमान प्राधिकृत शेयर पूंजी 4,500 करोड़ रुपए है। इसके अलावा 412 मेगावाट के रामपुर प्रोजेक्ट का निर्माण भी किया गया है। इसी तरह 775 मेगावाट क्षमता की लूहरी जल विद्युत परियोजना तथा 40 मेगावाट क्षमता की धौलासिद्ध जलविद्युत परियोजना एसजेवीएनएल के पास में है।

हिमाचल प्रदेश में लंबे अरसे से चल रही रोप-वे, स्काई बस और मोनोरेल का सपना भविष्य में साकार हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Elite Study\'s Content is protected !!